2020-21 में खाद्य तेल आयात 63% बढ़ा

0


खाद्य तेल आयात 2020-21 में मूल्य के लिहाज से बढ़ा

अक्टूबर में समाप्त हुए विपणन वर्ष 2020-21 के दौरान देश में खाद्य तेल का आयात 131.3 लाख टन सुस्त रहा। सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसईए) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, हालांकि मूल्य के लिहाज से आयात 63 फीसदी बढ़कर 1.17 लाख करोड़ रुपये हो गया।

विपणन वर्ष की अवधि वनस्पति तेलों के लिए नवंबर से अक्टूबर तक चलती है, जिसमें खाद्य और अखाद्य तेल शामिल होते हैं।

एसईए ने एक बयान में कहा, “तेल वर्ष 2020-21 के दौरान वनस्पति तेलों का आयात 135.31 लाख टन (13.53 मिलियन टन) दर्ज किया गया है, जबकि 2019-20 के दौरान यह 135.25 लाख टन (13.53 मिलियन टन) था।”

इसमें कहा गया है कि वनस्पति तेलों का आयात पिछले छह साल में दूसरी बार सबसे कम है।

आंकड़ों के अनुसार, खाद्य तेल का आयात 2020-21 में पिछले वर्ष के 131.75 लाख टन से गिरकर 131.31 लाख टन हो गया, जबकि अखाद्य तेल का आयात 3,49,172 टन से बढ़कर 399,822 टन हो गया।

रिफाइंड तेल का आयात 2019-20 के दौरान 4.21 लाख टन की तुलना में 2020-21 में मामूली बढ़कर 6.86 लाख टन हो गया, जबकि कच्चे तेल का आयात 127.54 लाख टन की तुलना में मामूली रूप से घटकर 124.45 लाख टन हो गया।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here